अगर आप क्रिएटिव हैं तो ग्रैजुएट के बाद चुने यह कोर्स

हिन्द न्यूज़ डेस्क  अगर आप आप कुछ करना चाहते है और आप अच्छा क्रिएटिव है तो आप कर सकते है यह कोर्स  तो गेम डेवलपर बनकर अपना करियर बना सकते हैं. इस इंडस्ट्री में जॉब के तो कई मौके हैं. साथ ही फ्रीलांसिंग करने का भी बड़ा स्कोप है. मात्र एक साल के कोर्स से ही स्किल्स डेवलप की जा सकती हैं.कोई भी ग्रैजुएट स्टूडेंट इस कोर्स को कर सकता है.

game-3-new_1475582001

इन कोर्सेस के जरिए इम्प्रूव कर सकते हैं स्किल्स
सर्टिफिकेट कोर्स (12 से 15 माह)
गेम डिजाइन डिप्लोमा (1 साल)
क्रेश कोर्स (2 माह से 6 माह)सर्टिफिकेट कोर्स (12 से 15 माह) गेम डिजाइन डिप्लोमा (1 साल) क्रेश कोर्स (2 माह से 6 माह)

 यहां से कर सकते हैं कोर्स

एरीना एनिमेशन एकेडमी

मेक (MAAC)

फ्रेमबॉक्स एनिमेशन एंड विजुअल इफेक्ट्स

सेंटर फॉर रिसर्च एंड इंडस्ट्रियल स्टाफ परफॉर्मेंस

ऑनलाइन भी हैं कोर्सेस

गेम डेवलपर के लिए कोर्सेस ऑनलाइन भी मौजूद हैं. इनके जरिए आप घर में ही गेम डेवलपिंग सीख सकते हैं. इन वेबसाइट्स पर ऑफर किए जा रहे कोर्स
> www.udemy.com
> www.coursera.org

कौन कर सकता है

बीए, बीकॉम, साइंस या अन्य किसी स्ट्रीम से ग्रैजुएट स्टूडेंट्स भी इस कोर्स को कर सकते हैं.
12वीं तक पढ़ाई कर चुके स्टूडेंट्स भी कोर्स के लिए पात्र होते हैं। ग्रैजुएशन में यदि किसी का टेक्निकल बैकग्राउंड है तो उसे और ज्यादा सपोर्ट मिल जाता है।

ऑनलाइन भी हैं कोर्सेस
गेम डेवलपर के लिए कोर्सेस ऑनलाइन भी मौजूद हैं. इनके जरिए आप घर में ही गेम डेवलपिंग सीख सकते हैं. इन वेबसाइट्स पर ऑफर किए जा रहे कोर्स
www.udemy.com

www.coursera.org
कौन कर सकता है

बीए, बीकॉम, साइंस या अन्य किसी स्ट्रीम से ग्रैजुएट स्टूडेंट्स भी इस कोर्स को कर सकते हैं.
12वीं तक पढ़ाई कर चुके स्टूडेंट्स भी कोर्स के लिए पात्र होते हैं. ग्रैजुएशन में यदि किसी का टेक्निकल बैकग्राउंड है तो उसे और ज्यादा सपोर्ट मिल जाता है.

कितनी इनकम होगी

यदि आप जॉब करते हैं तो शुरुआत 12 से 15 हजार रुपए मासिक से हो जाती है.

एक्सपर्ट मुदसर हसन का कहना है कि अच्छी स्किल्स डेवलप होने के बाद फ्रीलांसिंग में ही 15 से 20 हजार रुपए मासिक की इनकम हो जाती है.

अनुभव होने के बाद मल्टीनेशनल कंपनियों में तेजी से ग्रोथ मिलती है. फॉरेन की कंपनियां भी बड़े पैकेज पर टैलेंटेड लोगों को हायर करती हैं.

 

loading...

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com