अब प्रोफेसर बनने के लिए नहीं पड़ेगी NET क्वालीफाई करने की जरूरत

हिन्द न्यूज़ डेस्क| यदि आपने दुनिया के शीर्ष-500 सूची में रहे किसी उच्च शिक्षा संस्थान से पीएचडी की है, तो आपको सहायक प्राध्यापक बनने के लिए यूजीसी या सीएसआईआर की राष्ट्रीय पात्रता परीक्षा (नेट) पास करने की जरूरत नहीं पड़ेगी.  अपनी पीएचडी के आधार पर ही आप इस पद के लिए योग्य हो जाएंगे. उच्च शिक्षा संस्थानों में शिक्षकों और गैर-शैक्षणिक स्टाफ की भर्ती के लिए यूजीसी न्यूनतम योग्यता से जुड़े नए नियम बना रहा है. इसी नियम में यह प्रावधान किया गया है.

यूजीसी के मसौदा नियमों के मुताबिक, कला, वाणिज्य, मानविकीय, शिक्षा, विधि, सामाजिक विज्ञान, विज्ञान, भाषा, पुस्तकालय विज्ञान, पत्रकारिता एवं जनसंचार संकाय में सहायक प्राध्यापक की सीधी भर्ती में यह नियम लागू होगा. दुनिया के प्रसिद्ध शिक्षा संस्थानों और विश्वविद्यालयों की रैंकिंग जैसे एजुकेशनल रैंकिंग और एकेडमिक रैंकिंग ऑफ वर्ल्ड यूनिवर्सिटीज में कभी भी शीर्ष 500 में स्थान पाने वाले किसी भी संस्थान से पीएचडी करने वाले छात्र-छात्राओं को यह लाभ मिलेगा.

वर्तमान नियमों के मुताबिक, किसी भी संस्थान से पीएचडी करने वाले छात्र-छात्रा को भारतीय विश्वविद्यालयों और डिग्री कॉलेजों में बतौर शिक्षक पढ़ाने के लिए यूजीसी या सीएसआईआर की पात्रता परीक्षा उत्तीर्ण करनी पड़ती है. यूजीसी इन मसौदा नियमों पर संबंधित पक्षों से चर्चा करेगा. यदि इसमें कोई बड़े बदलाव नहीं हुए, तो नए अकादमिक सत्र से पहले इसे लागू कर दिया जाएगा.

loading...
error: Content is protected !!

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com