Breaking News

इनकम टैक्स एक्ट के सेक्शन 80सी के तहत 1.5 लाख रुपये तक के प्रीमियम पर टैक्स से छूट मिलती है

कम उम्र में जीवन बीमा लेना एक समझदारी भरा कदम माना जाता है। जिंदगी में बुरा वक्त कभी भी आ सकता है। इसलिए बुरे वक्त से बचने के लिए जीवन बीमा खरीदना एक जरूरी वित्तीय फैसला होता है। परिवार को वित्तीय सहायता देने के साथ-साथ जीवन बीमा के और भी कई फायदे हैं। आज हम उन्ही फायदों के बारे में बताने जा रहे हैं।

मुश्किल वक्त में परिवार को वित्तीय सहायता: कई परिवारों में एक ही व्यक्ति कमाई करने वाला होता है और पूरा परिवार उस पर निर्भर होता है। उस व्यक्ति की मृत्यु होने पर पूरा परिवार संकट में घिर जाता है। ऐसी स्थिति में जीवन बीमा काम आ सकता है। अगर मृत व्यक्ति का जीवन बीमा था तो उससे मिलने वाली रकम से परिवार को गुजारा करने में सहायता मिल जाती है। साथ ही बच्चों की पढ़ाई आदि के खर्च भी इस पैसे से निकल सकते हैं।

लोन का भुगतान: अगर किसी व्यक्ति ने लोन ले रखा है और उसकी मृत्यु हो जाती है तो परिवार के लिए मुश्किलें खड़ी हो जाती हैं। उनके लिए यह लोन चुकाना भारी हो जाता है। वहीं अगर मृत व्यक्ति के पास जीवन बीमा था तो उस रकम से यह लोन चुकाया जा सकता है। इससे परिवार की मुश्किलें कुछ हद तक कम हो जाती हैं।

टैक्स सेविंग: अगर आपने जीवन बीमा ले रखा है तो आप टैक्स भी बचा सकते हैं। इनकम टैक्स एक्ट के सेक्शन 80सी के तहत 1.5 लाख रुपये तक के प्रीमियम पर टैक्स से छूट मिलती है। साथ ही सेक्शन 10डी के तहत मैच्योरिटी पर भी छूट मिलती है। इसलिए जीवन बीमा ना सिर्फ आपकी मुश्किलें हल करेगा बल्कि टैक्स बचाने में भी आपके काम आएगा।

रिटायरमेंट के बाद भी आय: सही जीवन बीमा पॉलिसी का चुनाव कर आप रिटायरमेंट के बाद भी अपनी आय सुनिश्चित कर सकते हैं। इसके लिए एन्युटी प्लान में निवेश करें। यह पेंशन प्लान जैसा ही होता है। अगर आप इसमें नियमित रूप से लाइफ इंश्योरेंस प्रोडक्ट में निवेश करते हैं तो रिटायरमेंट के बाद इसका फायदा उठा सकते हैं।

loading...

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com