एड्स वायरस करीब 50 करोड़ साल पुराना

हिन्द न्यूज डेस्क। रिट्रोवायरस (एचआईवी) करीब 50 करोड़ साल पुराने हैं। यह पहले की अवधारणा से लाखों साल पुराने हैं. ऐसा ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय के वैज्ञानिकों का मानना है. रिट्रोवायरस विषाणुओं का एक प्रकार है, इसमें एचआईवी विषाणु भी शामिल है. एचआईवी विषाणु एड्स की महामारी के लिए जिम्मेदार है.

aids-symbol-ribbon-tree-world-aids-pictureनए शोध में पता चला है कि रिट्रोवायरस की उत्पत्ति समुद्री मूल से है। यह अपने जंतु पोषक के जरिए विकासपरक संक्रमण के लिए समुद्र से जमीन पर आए.

यह भी पढ़े- 39 की आयु 31 का राज, जानिए विवेकानंद की कम उम्र में मौत की वजह

अब तक यह माना जाता था कि रिट्रोवायरस नए हैं और इन्हें 10 करोड़ साल पुराना माना जाता था ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय के जंतु विज्ञान विभाग के डॉ. अरिस काटजोउराकिस ने कहा, “हमारा शोध बताता है कि रिट्रोवायरस कम से कम 45 करोड़ साल से ज्यादा पुराने है, यदि इतने पुराने नहीं तो पैलियोजोइक युग के शुरुआत में अपने कशेरुकी पोषकों के साथ उत्पन्न हुए होंगे.

यह जानवरों में कैंसर और प्रतिरोध संबंधी बीमारियां भी पैदा करता है. विषाणु के रिट्रो भाग का नाम आरएनएस से बने होने से नाते लिया जाता है. यह पोषक जीनोम में प्रवेश करने के लिए डीएनए में परिवर्तित हो जाता है.

loading...

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com