कर्नाटक में भी चला योगी का जादू, जिन क्षेत्रों में रैली-रोड शो किया वहां प्रत्याशियों को मिली जीत

त्रिपुरा की तरह ही कर्नाटक विधानसभा चुनाव में भी गोरक्ष पीठाधीश्वर और यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का जादू चला है। जिन क्षेत्रों में योगी की रैली या फिर रोड शो कराए गए, वहां भाजपा के ज्यादातर प्रत्याशियों को जीत मिली है। नाथपंथ से संबंधित वोटरों को रिझाने में भी योगी कामयाब रहे हैं। नाथपंथ बहुल वाली ज्यादातर विधानसभा सीटें भाजपा ने जीती हैं।

 

कर्नाटक विधानसभा चुनाव से पहले भाजपा ने परिवर्तन रैली निकाली थी। इसमें राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के अलावा यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी हिस्सा लिया था। वह हुबली से परिवर्तन यात्रा में शामिल हुए थे। चुनाव की तारीखें घोषित हुईं तो योगी को स्टार प्रचारकों की सूची में रखा गया। तीन से 10 मई के बीच योगी आदित्यनाथ ने कर्नाटक के अलग-अलग विधानसभा क्षेत्रों में ताबड़तोड़ 33 रैलियां कीं और रोड शो करके वोटरों को रिझाया। 

जिन क्षेत्रों में वे गए, वहां भीड़ जुटी। अब नतीजे घोषित हुए तो योगी के प्रचार वाले क्षेत्रों के ज्यादातर भाजपा प्रत्याशियों को जीत मिली है। जिन क्षेत्रों में भाजपा प्रत्याशी हारे हैं, वहां कांग्रेस या फिर जेडीएस प्रत्याशियों की जीत का अंतर कम है। इसी तरह त्रिपुरा विधानसभा चुनाव में भी योगी का जादू चला था। 

योगी के चुनाव प्रचार वाले इन विधानसभा क्षेत्रों में मिली जीत

सिरसी, सागरा, श्रृंगेरी, होनाहल्ली, भटकल, कापू, बंटवाल, धारवाड़, बिंदूर, मुदाबिदरे, विराजपेट, सूलिया, रनेबेन्नूरू और बंटावल सहित अन्य।

योगी ने नाथपंथ के दबदबे को भी भुनाया

कर्नाटक में नाथपंथ का दबदबा है। गोरक्षपीठ से संबंधित श्री धर्म स्थल मंजूनाथेश्वर (एसडीएम) का खास प्रभाव है। मंजूनाथ ट्रस्ट से 70 स्कूल, कॉलेज, विश्वविद्यालय और चिकित्सा विश्वविद्यालय संचालित होते हैं। इसके जरिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ वोटरों को भाजपा से जोड़ने में कामयाब रहे हैं।

कदली मठ मंगलौर और विट्ठल मठ को नाथ संप्रदाय का प्रमुख केंद्र बताया जाता है। चुनाव प्रचार के दौरान गोरक्ष पीठाधीश्वर और यूपी के मुख्यमंत्री योगी इन मठों में भी गए। साथ ही भाजपा प्रत्याशियों को विजयी बनाने की अपील की। 

इस पर भाजपा गोरक्ष प्रांत के क्षेत्रीय उपाध्यक्ष डॉ. सत्येंद्र सिन्हा का कहना है कि गोरक्ष पीठाधीश्वर और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भाजपा के बड़े नेता हैं। हर राज्य की जनता के बीच उनकी मजबूत पैठ है। कर्नाटक में नाथपंथ के तमाम मठ हैं, जिनकी गोरक्ष पीठाधीश्वर में गहरी आस्था है। मुख्यमंत्री के प्रचार का बड़ा फायदा भाजपा को मिला है। 33 क्षेत्रों में उनकी रैली, रोड शो कराए गए थे। ज्यादातर क्षेत्र के प्रत्याशियों को जीत मिली है। यह बड़ी उपलब्धि है

loading...

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com