कानून का पालन करने वाले ही उड़ा रहे हैं इसकी धज्जियां

हिन्द डेस्क : बिना किसी परमिशन के स्वाती मालीवाल ने फर्जी भर्तियां करवाकर न सिर्फ नियमों का उलघंन किया है बल्कि अपने पैर में खुद ही कुल्हाड़ी मार ली है.

बतातें चले कि स्वाती मालीवाल दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष है. इन्होनें अपने अधिकारों से बाहर हटकर गैर क़ानूनी तरीके से महिला आयोग में नियुक्तियां की हैं.

swati-maliwal-story_647_080215044952

जिसके चलते ऐंटी करप्शन ब्यूरो ने इन पर भर्ती घोटाले के आरोप में एक चार्जशीट दाखिल की है.यही नहीं ऐंटी करप्शन ब्यूरो के कमिश्नर मुकेश कुमार मीणा ने इनके खिलाफ पुख्ता सबूत इकट्ठा कर इन पर भर्ती घोटाले के तहत तीस हजारी कोर्ट में चार्जशीट भी दाखिल कर दी है.

कोर्ट में दिए चालान में कहा गया कि स्वाती मालीवाल ने बिना विज्ञापन निकाले ही नियुक्तियां कर दी . जो गैर क़ानूनी है. यही नहीं पब्लिक की सेवा करने के लिए दिए गये अधिकारों का उन्होंने दुरुपयोग किया है.उन्होंने पार्टी कार्यकर्ता सहित अन्य लोगों की नियुक्तियां बिना किसी परमिट के कर दिया.

maliwal-1474588953

जांच में पाया गया कि गलत तरीके से अपॉइंटमेंट करने की वजह से मालिवाल ने न सिर्फ अपराध किया, बल्कि सरकारी खजाने जीएफआर यानी जनरल वित्तीय नियमों का उल्लंघन भी किया . मालीवाल को ये नियुक्तियां करने की पावर नहीं थी, लेकिन उन्हें अपनी मनमर्जी से अपॉइंटमेंट लेटर लोगों में बांट दिए.

swati-maliwal-1

जांच में यह भी पाया गया कि स्वाति मालीवाल ने नियम-कायदों को ताक पर रखकर खुद ही इन लोगों के पे-स्केल तय कर दिए। ब्यूरो ने फिलहाल स्वाति मालीवाल को ही इस चालान में मुलजिम बनाया है. जानकारी मिली है कि कुछ और लोगों के खिलाफ भी जांच चल रही है और उनके खिलाफ सबूत मिलने पर सप्लीमेंट्री चालान दायर किया जा सकता है.

loading...

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com