चीन के इशारों पर ना नाचे पाकिस्तान- हुसैन हक्कानी

 पाकिस्तान के पूर्व राजनियक एवं ‘ पाकिस्तान बिटवीन मॉस्क एंड मिलिटरी ’ और ‘ इंडिया वर्सेस पाकिस्तान : व्हाई कान्ट वी जस्ट बी फ्रेंड्स ’ के लेखक  हुसैन हक्कानी ने कहा कि पाकिस्तान को लड़ाकू देश बनने के बजाय कारोबारी देश बनना चाहिए और सुनिश्चित करना चाहिए कि वह चीन की कठपुतली न बने. 

हक्कानी ने बताया कि पाकिस्तान को इस बारे में विचार करने की आवश्यकता है कि आतंकवाद के संदिग्ध हाफिज सईद का समर्थन करना है या फिर अंतरराष्ट्रीय विश्वसनीयता और सम्मान हासिल करने में से क्या ज्यादा महत्वपूर्ण है. पहले से ही मजबूत चीन- पाक संबंधों के और मजबूत होने के बीच हक्कानी ने जोर देकर कहा कि पाकिस्तान को चीन पर निर्भर रहने की तरफ नहीं जाना चाहिए और चीन की कठपुतली बनने से दूर रहना चाहिए.

इस्लामाबाद को एक बड़ी शक्ति के साथ जुड़ने के खतरों के प्रति आगाह करते हुए उन्होंने कहा , ‘‘ पाकिस्तान को आत्मनिर्भर अर्थव्यवस्था ’’ बनने की आवश्यकता है.  हक्कानी 2008 से 2011 तक अमेरिका में पाकिस्तान के राजदूत थे. पिछले सप्ताह अपनी नई किताब ‘ रीइमेजिनिंग पाकिस्तान : ट्रांसफार्मिंग ए डिस्फंक्शनल न्यूक्लियर स्टेट ’ के विमोचन के लिए भारत आए हक्कानी ने कहा कि इस्लामाबाद को आर्थिक क्षेत्र सहित ‘‘ अपनी समूची दिशा पर पुनर्विचार ’’ की आवश्यकता है.

loading...

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com