तस्वीरें: यहां भारतीय लड़कियों को बालों के बदले मिलते हैं लाखों रुपये, जानें क्यों

हिन्द न्यूज़ डेस्क| भारतीय स्त्रिया अपने बालो (women hair) को लेकर बड़ी सजग होती है. भारतीय महिलाओं की खुबसुरती में अनके बालो का विशेष महत्व होता है. यही कारण है कि कई भारतीय फिल्मो के गानों व गजलो में जुल्फो का ज्रिक आता है. लेकिन दक्षिण भारत में महिलाओं द्वारा अपने बालों को कटवाने की प्रथा है. यहां महिलाअें आस्था के चलते कई मंदिरो में अपने बालो का मुंडन करवाती है. यहा बाल कटवाना अशुभ नही माना जाता बल्कि अपनी मनोकामना पूर्ति होने या आस्था के चलते यहां महिलाअें अपने बाल दान करती रहती है.

वीडियो: शादी वाले दिन ही दामाद जी से गाड़ी में धक्का लगवाया, कार को मंडप तक पहुंचाया

अब सवाल ये है कि इन बालों का होता क्या है। क्या ये बाल यूही फेक दिए जाते है। यदि आप ऐसा सोचते है तो आप गलत सोच रहे है। इन बालो का बकायदा व्यवसाय होता है व इनसे लाखो रुपयें की आमदनी होती है। कई पश्चिमी देशों में इन बालों की अत्यधिक मांग है।

हजारों लोग एक साथ नेकेड हो कर पब्लिक प्लेस में ढूंढते हैं ये चीज, जानें क्यों

क्यों है ज्यादा मांग
बताया जाता है कि मंदिरो में बाल उतरवाने वाली ज्यादातर महिलाएं ऐसा आस्था के कारण करती है, अत: इससे पहले उनहोने कभी भी अपने बाल नही कटवाएं होते है। इसलिए ये लम्बे व सीधे होते है। जिनकी ज्यादा मांग होती है। इसके अलावा इनमें से ज्यादातर महिलाओं ने अपने बालो को न तो कलर करवाया होता है न ही दक्षिण भारतीय महिलाएं ज्यादा शेम्पु का प्रयोग करती है,इस कारण से उनके बाल (women hair) टूटे हुए या डैमेज नही होते। इससे भी इनकी मांग बढ़ जाती है। नारीयल के तेल के अधिक प्रयोग से भी इनके बाल अधिक घने व मुलायम होते है।

यहां वासना को समझ रखा है खेल, एक-एक कर इस तरह करते हैं गैंगरेप

क्या है उपयोग
इन बालों को एक अच्छी कीमत में अन्तराष्ट्रीय बाजार में बेचा जाता है। बताया जाता है कि वहां इनका उपयोग ब्यूटी पार्लर में विग बनाने मे किया जाता है। इसके अलावा भी कई ऐसे प्रोडेक्ट्स है जिनमें इन बालो का उपयोग किया जाता है।

वीडियो: ये रहस्यमई दरवाजा आपको कराएगा दूसरी दुनिया की सैर

मंदिर क्या करते है पैसे का
खबरों के मुताबिक मंदिर इन बालों से कमाएं गये पैसे का उपयोग जनकल्याण में करते है। इस पैसे से स्कूल, अनाथालय, अस्पताल आदि बनवाएं जाते है। हालाकि इसका पूरा हिसाब शायद ही किसी के पास रहता हो।

यहां महिलाएं धरती पर ही भोग रहीं नर्क, पर्यटकों के साथ हैवानियत भरा काम करने पर मजबूर

अवैध कारोबार भी है
खबरो के मुताबिक इन बालों (women hair) के व्यवसाय में अवैध कारोबारी भी सम्मिलित है। ये गरीब महिलाओं को बहला कर या लालच या दबाव में लाकर बाल दान करवातें है जिसके बदले ये बढ़िया मुनाफा कमाते है। बताया जाता है कि कई महिलाएं इस अवैध करोबार के बारे में जानती भी है परन्तु उनहे दबाव में आकर ये करना पड़ता है।

 

loading...

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com