देश में चौथे स्थान पर कानपुर की फील्डगन फैक्ट्री, जानिए क्या है खास

सेना के लिए तोप से लेकर पैराशूट तक बनाने वाली देश की 41 आर्डनेंस फैक्ट्रियों में फील्डगन फैक्ट्री को चौथा स्थान हासिल हुआ है। उत्पादों की गुणवत्ता और सेवा के आधार पर आर्डनेंस फैक्ट्री बोर्ड (ओएफबी) ने यह रैंकिंग अपनी वेबसाइट पर जारी की है। रैंकिंग में आर्डनेंस फैक्ट्री को आठवां स्थान मिला है जबकि पैराशूट फैक्ट्री सबसे निचले यानी 41वें पायदान पर है।

गुणवत्ता और सेवाओं के आधार पर की रैंकिंग

ओएफबी की देश में कुल 41 फैक्ट्रियां हैं जिसमें से पांच कानपुर में हैं। इन फैक्ट्रियों में सैनिकों के जूतों से लेकर हथियार, गोला-बारूद और पैराशूट तक बनाए जाते हैं। ओएफबी ने यहां बनाए जाने वाले उत्पादों की गुणवत्ता और सेवाओं के आधार पर देश ही नहीं विदेश से जो फीडबैक हासिल किया।

उसी के आधार यह रैंकिंग जारी की है, हालांकि इसमें टॉप टेन और बॉटम फाइव का ही जिक्र किया गया है। तमिलनाडु स्थित कार्डाइट फैक्ट्री अरुवेंकाडू (सीएफए) को पहला स्थान हासिल है, जबकि चौथे स्थान पर कानपुर की फील्डगन फैक्ट्री रही।

फैक्ट्री में बनी धनुष और शारंग तोप

फील्डगन फैक्ट्री सेना के लिए रिवाल्वर से लेकर धनुष और शारंग तोपें तक बना रही हैं जिसमें धनुष सेना को सौंपी जा चुकी है और शारंग जल्द ही सेना के हवाले कर दी जाएगी। इसी तरह आर्डनेंस फैक्ट्री कानपुर जिसे आठवां स्थान मिला है। वह भी सेना के लिए धनुष और शारंग जैसी तोपें बनाती है। सबसे निचले स्थान पर कानपुर की आर्डनेंस पैराशूट फैक्ट्री है।

हालांकि आंतरिक तौर पर जारी की गई इस रैंकिंग पर किसी फैक्ट्री का कोई अधिकारी औपचारिक रूप से कुछ बोलने को तैयार नहीं है। एक अधिकारी ने इस रैंकिंग की पुष्टि करते हुए कहा कि यह रैंकिंग बेहतर प्रतिस्पद्र्धा के लिए कराई गई है। जिसके कई पैरामीटर और सब पैरामीटर हैं जिनसे गुजरने के बाद यह रैंकिंग दी जाती है।

loading...
error: Content is protected !!

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com