नवजाेत सिंह सिद्धू का दावा, श्री करतारपुर साहिब कॉरिडोर खोलने को पाकिस्‍तान तैयार

पंजाब के कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा है कि पाकिस्‍तान गुरु नानकदेव जी के 550वें प्रकाशोत्‍सव पर श्री करतारपुर साहिब का रास्‍ता खोलने के लिए तैयार हो गया है। पंजाब के लोगों के लिए इससे कोई बड़ी खुशी नहीं हो सकती है। इससे मेरी पाकिस्‍तान यात्रा का मकसद पूरा हो गया है। 

सिद्धू ने यहां मीडिया से बातचीत में कहा कि पाकिस्‍तान के सूचना मंत्री फवाद चौधरी ने साफ कर दिया है कि पाक सरकार गुरु नानकदेव की 550वें प्रकाशोत्‍सव पर श्री करतारपुर साहिब कॉरिडोर को खोलने को तैयार है। पाकिस्‍तान इस संबंध में भारत सरकार को प्रस्‍ताव भेज रहा है। इसके बाद भारत सरकार के सहमत हो जाने पर इस कॉरिडाेर को खोल दिया जाएगा।

सिद्धू ने कहा कि पाकिस्‍तान के इस कदम से पंजाब के लोगों को बड़ी सौगात मिलेगी। यह बेहद खुशी की बात है। इससे मेरे पाकिस्‍तान यात्रा का मकसद पूरा हो गया है। उन्‍होंने कहा कि मेरे पाकिस्‍तान दौरे को लेकर बेवज‍ह के सवाल उठाए गए। करतारपुर मार्ग खुल जाने से भारत और पाकिस्‍तान के बीच शांति व दोस्‍ती की राह भी खुलेगी। सिद्धू ने कहा, अब समय आ गया है कि दोनों देशों के बीच हिंसा, अशांति और वैर का माहौल खत्‍म हो।

पाक अार्मी चीफ के भड़काऊ बयान पर सिद्धू बोले, नो कमेंट्स

पत्रकारों से बातचीत के दौरान सिद्धू से प‍ाकिस्‍तान के सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा के भारत के विरोध में दिए गए बयान के बारे में पूछा गया ताे उन्‍होंने इस पर कोई टिप्‍पणी करने से मना कर दिया। सिद्धू ने कहा, नो कमेंट्स। इसके साथ वह बोले कि दोनों देशों के लिए आगे बढ़ने का एक ही रास्‍ता है वार्ता, तरक्‍की का एक ही रास्‍ता है शा‍ंति। दोनों देशों को शांति और दोस्‍ती के रास्‍ते पर बढ़कर वार्ता करनी चाहिए।

पाकिस्तान के आर्मी चीफ कमर जावेद बाजवा ने शुक्रवार को ही भारत को गीदड़भभकी दी है। उन्‍होंने कहा कि सरहद पर जो लहू बह चुका है और जो बह रहा है, सभी का हिसाब लेंगे। बाजवा ने विवादित बयान में कहा कि वह कश्मीर के लोगों को सलाम करते हैं जो वहां खड़े हैं और बहादुरी से लड़ रहे हैं।

सिद्धू के पाक सेना प्रधान से गले मिलने पर हुआ था भारी विवाद

बता दें कि नवजोत सिंह सिद्धू पिछले दिनों पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के शपथ ग्रहण समारोह में गए थे और वहां वह पाकिस्‍तान के सेना अध्‍यक्ष जनरल कमर जावेद बाजवा से गले मिले थे। इस पर भारत में काफी विवाद हुआ था और नवजोत सिंह सिद्धू निशाने पर आ गए थे। इसके बाद सिद्धू ने सफाई देते हुए कहा, पाकिस्‍तान के सेना अध्‍यक्ष ने उनसे कहा था कि गुरु नानकदेव के 550वें प्रकाशोत्‍सव पर पाक श्री करतारपुर साहिब मार्ग खोलने पर विचार कर रहा है। यह सुनकर मैंने खुशी में पाक सेना प्रधान को गले से लगा लिया।

बीच में पाक ने लिया था यू टर्न

इससे पहले श्री करतारपुर साहिब कॉरिडोर के बारे में पाकिस्तान ने यू टर्न ले लिया था। कुछ दिन पहले वह इस मामले में बहानेबाजी और शर्तबाजी पर उतर आया था। उसने कहा था कि वह अकेले इस बारे में विचार नहीं कर सकता। इस्लामाबाद में पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता डाॅ. मुहम्मद फैज़ल ने कहा था कि करतारपुर साहिब कॉरिडोर द्वारा हम दोनों देशों में संबंधों को सुधारने की कोशिश कर रहे हैं, लेकिन इस में अभी और विचार किए जाने की ज़रूरत है। इसके साथ ही उसने सीजफायर का उल्‍लंघन करने का अारोप लगाया था। गौरतलब है कि पाकिस्तान 2001 से कहता आया है कि अगर भारत भी चाहे तो वह इस कॉरिडोर को खोल सकता है।

श्री करतापुर साहिब गुरुद्वारे को पहला गुरुद्वारा माना जाता है जिसकी नींव श्री गुरु नानक देव जी ने रखी थी। उन्होंने यहां से लंगर प्रथा की शुरुआत की थी। यह स्थल पाकिस्तान में भारतीय सीमा से करीब चार किलोमीटर दूर है और अभी पंजाब के गुरदासपुर में डेरा बाबा नानक बार्डर आउटपोस्ट से दूरबीन से भारतीय श्रद्धालु इस गुरुद्वारे के दर्शन करते हैैं। श्री गुरुनानक देव जी का 550 वां प्रकाश पर्व 2019 में वहां मनाया जाना है और इस अवसर पर सिख समुदाय इस कॉरिडोर को खोलने की मांग जोर शोर से कर रहा है।

loading...

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com