#नोटबंदी: नोटबंदी की कुछ अनदेखी तस्वीरें..

हिन्द न्यूज़ डेस्क| देश को हिला कर रख देने वाला दिन, 8 नवम्बर (2016) दिन शुक्रवार समय रात 8 बजे जब देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्रे मोदी ने देश की जनता के हित के लिए एक बहुत बड़ा कदम उठाया. जिसका उद्देश्य था भारत में काले धन को जड़ से खत्म करना. बता दें, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था कि पांच सौ और हजार रूपए के पुराने नोट मंगलवार मध्यरात्रि से इस्तेमाल नहीं किए जा सकेंगे. उन्होंने ‘राष्ट्र के नाम संदेश’ में ये बड़ी घोषणा करते हुए कहा है कि पांच सौ और हज़ार के पुराने नोट बैंक या पोस्ट ऑफिस में जमा किए जा सकेंगे. इस ऐतिहासिक ऐलान को सुनते ही पूरे भारत देश में अफरा-तफरी मच गई थी.आइये आज हम आपको तस्वीरों के माध्यम से नोट बंदी के उस दौर से रूबरू कराते हैं.

#नोटबंदी: कालाधन के तिजोरी की वॉट लगा दी रे, अच्छा-अच्छा कंजूसा की नींद उड़ा दी रे

दिल्ली के कैनौट प्लेस में नोट बंदी के समय की पहले दिन सुबह 11 बजे की ये तस्वीर जहां ICICI बैंक के बहार लोगों की पहली इतनी लम्बी लाइन.

 

नोट बंदी दौरान बैंक के गेट पर सुबह 6 बजे खड़े हजारो लोगों की ये तस्वीर देखकर हर कोई हैरान हो जाएंगा.

#नोटबंदी: कालाधन के तिजोरी की वॉट लगा दी रे, अच्छा-अच्छा कंजूसा की नींद उड़ा दी रे

नोट बंदी के दौरान बैंक की लाइन में लगे आम आदमी जो थक हार कर सड़क की जमीन को ही आपना घर बना लिया.

नोटबंदी कितनी कारगर ‘चुनावी मेनिफेस्टो’ मे पता चलेगा, सवाल 15 लाख का है मित्रों

नोट बंदी के दौरान कई किसानों ने रेलवे ट्रैक को रोक कर दिखाया अपना क्रोध किया धरना प्रदर्शन.

नोट बंदी के दौरान लाइन में लगे लोग आपस में लड़ते झगड़ते हुए.

नोटबंदी कितनी कारगर ‘चुनावी मेनिफेस्टो’ मे पता चलेगा, सवाल 15 लाख का है मित्रों

नोट बंदी के दौरान के समय अपने पुराने नोटों को लिए लाइन में खड़े लोग.

#नोटबंदी: कालाधन के तिजोरी की वॉट लगा दी रे, अच्छा-अच्छा कंजूसा की नींद उड़ा दी रे

नोट बंदी के दौरान लोगों को काबू करती पुलिस प्रशासन.

#नोटबंदी: कालाधन के तिजोरी की वॉट लगा दी रे, अच्छा-अच्छा कंजूसा की नींद उड़ा दी रे

नोट बंदी के दौरान  कारोबारी सड़क जाम करके प्रदर्शन करते हुए.

प्रधानमंत्री नरेन्द्रे मोदी के नोट बंदी के के बाद 2000 के नये नोट के साथ मोदी जी को सपोर्ट करती जनता.

loading...

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com