नोटिस जारी, सपा का चुनाव चिन्ह जब्त करा सकते हैं अखिलेश!

हिन्द न्यूज़ डेस्क| साल 2016 जाते-जाते सपा को दर्द देते हुए जा रहा है. घर में मची आपसी कलह खुलकर लोगों के समाने आ रही. अब टिकेट बंटवारे को लेकर शुरू हुई घमासान ने एक नया मोड़ ले लिए है. नई लिस्ट जारी होने के बाद अखिलेश और रामगोपाल पर मुलायम सिंह यादव ने कारण बताओ नोटिस जारी किया है.

5brdapws

 

यह भी पढ़ें- तकरार ने बना दिया टीपू को निर्दलीय प्रत्याशी, बबीना से लड़ेगें चुनाव

 

 

सपा का चुनाव चिन्ह जब्त करा सकते हैं अखिलेश

इसबीच ताजा जानकारी यह है कि अखिलेश सपा का चुनाव चिन्ह जब्त कराने के लिए चुनाव आयोग का दरवाजा भी खटखटा सकते हैं. इससे पहले सुबह अखिलेश यादव ने अपनी कोर टीम के साथ बैठक की है. अखिलेश का खेमा मुलायम पर लगातार दबाव बनाने की कोशिश कर रहा है, इसके लिए अखिलेश के वो समर्थक टिकट लौटा सकते हैं जिन्हें मुलायम ने उम्मीदवारों की अपनी लिस्ट में जगह दी है. उधर अखिलेश के चाचा शिवपाल यादव ने मुलायम सिंह यादव से मुलाकात की है.

मुलायम सिंह बैठक बुलाई

परिवार में मचे इस ‘भाई-भतीजा वार’ के बीच कल सुबह 10 बजे मुलायम सिंह यादव ने उम्मीदवारों की बैठक बुलाई है. इसमें समाजवादी पार्टी के घोषित उम्मीदवारों को पार्टी के प्रदेश कार्यालय में बैठक के लिए बुलाया गया है. पार्टी में जारी उठापटक के मद्देनज़र इस बैठक को बेहद अहम माना जा रहा है. बताया जा रहा है कि इस बैठक में मुलायम सिंह यादव प्रत्याशियों के रूख को भांपने की कोशिश भी करेंगे.

यह भी पढ़ें- जानिये टिकट के बाद भी क्यों असमंजस में हैं सपा के प्रत्याशी

अखिलेश की नाराजगी और लिस्ट

शिवपाल की लिस्ट से नाराज मुख्यमंत्री अखिलेश यादव एक बार फिर बगावती तेवर दिखा रहे हैं. अखिलेश की ये नाराजगी उनके समर्थकों का टिकट कटे जाने से है. मुलायम सिंह औऱ शिवपाल यादव से मुलाकात में अखिलेश ने तीखे सवाल किए और टिकट काटने की वजह पूछी. नाराजगी इस कदर है कि अखिलेश अपने समर्थकों के अलग चुनाव लड़ाने के लिए भी तैयार हैं. अखिलेश खेमे का दावा है कि पार्टी से अलग उन्होंने 235 की लिस्ट जारी की है जिसमें से 184 नाम सार्वजनिक हुए हैं. इस लिस्ट में अखिलेश ने अपने करीबियों को टिकट दिया है. अखिलेश की इस लिस्ट में 171 मौजूदा विधायक शामिल हैं.

loading...

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com