Breaking News

पुरूषों के मुकाबले महिलाओं मे नींद की समस्या ज्यादा पाई जाती है, जानिए कारण

ऐसा कई बार होता है नींद नहीं आती है या फिर आती भी है तो बार-बार टूट जाती है या गहरी नींद नहीं आ पाती है। इसे अनिद्रा का लक्षण कहते हैं। अनिद्रा की समस्या किसी भी उम्र के लोगों में हो सकती है लेकिन ये समस्या ज्यादातर महिलाओं में अधिक देखा गया है पुरूषों के मुकाबले।

कई बार ये समस्या उम्र बढ्ने के साथ-साथ भी बढ़ने लगती है। ऎसे में थकान महसूस होती है जिसका पूरा असर आपके कामकाज पर पड़ता है।

अनिद्रा का कारण
तनाव, शारीरिक व मानसिक रोग, अनियमित जीवनशैली और डर आदि।

गर्भावस्था व मासिक धर्म में

ऐसे मे महिलाओं के हार्मोन में कुछ बदलाव होता है, इस की वजह से नींद न आने की समस्या ज्यादा सामने आती है। अधिकतर कई महिलाओं मे ये देखा गया है कि मासिक धर्म से पहले नींद न आने, नींद के बार-बार टूटने, डर लगने या उठने-बैठने में तकलीफ आदि समस्या आती है। इसी प्रकार ये समस्या गर्भावस्था के दौरान भी देखा गया। ये समस्या महिलाओं को तीन माह के दौरान अधिक नींद की समस्या आती हैं और अंतिम तीन महीनों में कई बार नींद की समस्या से तनावग्रस्त होने लगती है। इस वजह से कई बार छाती में जलन, दर्द, डर, बेचैनी, पैरों में दर्द आदि परेशानी सामने आती हैं। इस कारण अधिकतर समय जागते हुए निकल जाता है और वे थकान महसूस करती हैं।

 
loading...

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com