फिल्म रिव्यू :15 साल की स्टूडेंट के साथ शादीशुदा शिक्षक का ये कैसा रिश्ता?

हिन्द न्यूज डेस्क। फिल्म हरामखोर काफी वक्त पहले बनकर तैयार थी लेकिन इसे सेंसर बोर्ड की तरफ से सर्टिफिकेट न मिल पाने की वजह से इतना टाइम लग गया फिल्म में एक 15 साल की स्टूडेंट और एक शिक्षक के रिश्ते को एक अलग अंदाज में बयां किया गया है.

maxresdefault2 (1)

यह भी पढ़ें-दिशा की इस टॉपलेस तस्वीर पर दी जा रही हैं गालियां

स्टारकास्ट- नवीजुद्दीन सिद्दीकी, श्वेता त्रिपाठी त्रिमाला अधिकारी, मोहम्मद इरफान

डायरेक्टर- श्लोक शर्मा

प्रोड्यूसर- गुनीत मोंगा, अनुराग कश्यप

अवधि- 1 घंटा 34 मिनट

सर्टिफिकेट-यू/ए

रेटिंग-3/5

कहानी-

यह कहानी स्कूल टीचर श्याम (नवाजुद्दीन सिद्दीकी) और उसकी स्टूडेंट संध्या (श्वेता त्रिपाठी) की है. श्याम स्कूल के बाद संध्या को बाकी बच्चों की तरह ट्यूशन पढ़ाता है जिसकी वजह से वो धीरे धीरे संध्या के साथ जिस्मानी ताल्लुकात भी बनाने लगता है. इन सभी बातों का प्रभाव श्याम की निजी जिंदगी पर भी पड़ता है, जिसकी वजह से उसकी पत्नी नाराज रहने लगती है. वैसे संध्या को स्कूल का हमउम्र लड़का कमल भी बहुत पसंद करता है. अब श्याम के नाजायज संबंध का अंत भी एक अलग अंदाज में होता है. जिसका पता आपको फिल्म देखकर ही चलेगा.

कमजोर कड़ियां

फिल्म की एडिटिंग काफी तितर-बितर सी नजर आती है जिसकी वजह से इसे देखते हुए आप कनेक्ट कर पाने में मुश्किल महसूस करते हैं. फिल्म में आपको काफी रॉ और रियल लोकेशन की शूटिंग और कहानी देखने को मिलती है लेकिन इस तरह की फिल्मों को देखने वाली खास ऑडियंस होती है और ज्यादा तादाद तक ये फिल्म नही पहुंच पाती है.

डायरेक्शन

फिल्म का डायरेक्शन अच्छा है. रियल लोकेशंस की शूटिंग देखने को मिली है, साथ ही रिसर्च भी अच्छी है. फिल्म को सेंसर की कैंची चलने की वजह से काफी नुकसान हो सकता है क्योंकि उसकी वजह से कहानी प्रभावित हुई है. हालांकि स्क्रीनप्ले को थोड़ा और बेहतर किया जा सकता था क्योंकि एक तरफ जहां लव ट्राइंगल था तो दूसरी तरफ फादर-डॉटर के रिश्ते को भी दर्शाया गया है जो कहीं ना कहीं अधूरा नजर आता है. यही कारण है कि शायद सबको यह फिल्म पसंद ना आए.

स्टारकास्ट की परफॉर्मेंस

नवाजुद्दीन सिद्दीकी ने एक बार फिर से अपनी एक्टिंग की वजह से साबित कर दिया है कि आखिरकार उन्हें दर्शकों का इतना प्रेम क्यों मिलता है। नवाजुद्दीन ने बहुत ही उम्दा एक्टिंग की हैं. वहीं श्वेता त्रिपाठी की एक्टिंग भी कमाल की है. दोनों एक्टर्स ने फिल्म को अपनी पुरजोर एक्टिंग की वजह से बांधे रखा है. वहीं बाकी साथी कलाकारों का काम भी काफी अच्छा है.

देखें या नहीं…

अगर नवाजुद्दीन सिद्दीकी के बड़े फैन हैं तो एक बार जरूर देख सकते हैं अगर आपको फिल्म फेस्टिवल में दिखाई जाने वाली फिल्में पसंद आती हैं तो इसे जरूर देख सकते हैं.

loading...

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com