बिछिया पहनने से होते हैं ये फायदे, बने रहते हैं स्वस्थ

भारत एक अनोखा देश है जहां पर कई तरह के रिवाज और परम्पराएं निभाई जाती हैं. रिवाजों के अलावा यहां पर कई तरह की ज्वेलरी भी पहनी जाती है जो महिलाओं का श्रृंगार बनती हैं.  ऐसे ही महिलाओं का एक खास आभूषण है बिछिया जो अक्सर भारत की हर विवाहित महिला के पैरों में देखी जाती है. भारत में हर महिला बिछिया जरूर पहनती है. इसके पीछे भी एक खास कारण है. ये सेहत से भी जुड़ा है जिसके बारे में आपको जानकारी नहीं होगी. इसके अलावा बिछिया पहनने के पीछे वैज्ञानिक कारण भी है. आइये जानते हैं. 

* वैज्ञानिक कारण : बिछिया को हमेशा पैर की दूसरी उंगली में ही पहना जाता है. यह बिछिया पैर की दूसरी उंगली में पहनने से प्रजनन क्षमता बढ़ाने में बहुत अहम भूमिका निभाती है. गर्भाशय नियंत्रण में भी सहायक है और गर्भाशय में ब्लड प्रेशर भी सन्तुलित रहता है. एक्यूप्रेशर का भी काम करती है जिसमें आपके पैरों के तलते से लेकर नाभि तक की सभी नाड़ियां और पेशियां व्यवस्थित होती है.

* वैदिक कारण : वेदों के अनुसार भी बिछिया का अहम रोल है. वेदों का मानना है कि बिछिया को दोनों पैरों में पहनने से महिलाओं का मासिक चक्र नियमित होता है. सेहत के लाभ देखें तो आप इससे हमेशा स्वस्थ रहती हैं और आपके गर्भसहि पर भी अच्छा प्रभाव पड़ता है.

loading...
error: Content is protected !!

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com