बेंगलुरु ने हैदराबाद को हरा कर प्लेऑफ के गणित को रोमांचक बनाया

आईपीएल के सीजन 11 के 51वें मैच में गुरुवार को बेंगलुरु ने हैदराबाद को बेहद रोमांचक मुकाबले में 14 रनों से हरा दिया. इस जीत के साथ ही बेंगलुरु भी प्लेऑफ के जटिल गणित में प्रमुख तौर पर आ गया है और अंक तालिका को काफी रोमांचक बना दिया है. वहीं अब चेन्नई के भी शीर्ष पर जाने के संभावना को बल मिला है. वहीं हैदराबाद को अब पहले स्थान से चेन्नई दूसरे स्थान पर खिसका सकता है.

बेंगलुरु हैदराबाद मैच में दोनों ही टीमों ने धुंआधार बल्लेबाजी की जहां बेंगलुरु की ओर से एबी डिविलियर्स, मोईन अली, और कोलिन ग्रैंडहोम ने तूफानी पारी खेली. वहीं हैदराबाद की ओर से केन विलियमसन, मनीष पांडे, एलेक्स हेल्स ने भी आतिशी पारी खेली इसी वजह से दोनों ही टीमें 200 से ज्यादा का स्कोर बनाने में कामयाब हो गई. लेकिन बेंगलुरु के 218 रनों के जवाब में हैदराबाद केवल 204 रन बनाकर मैच गंवा बैठी. 

बेंगलुरु के इस मैच जीतने से उसके अंक तालिका में 12 अंक हो गए है और अंक तालिका में वह पांचवे स्थान पर आ गई है.  अभी अंक तालिका में चार टीमें ऐसी हो गईं हैं जिनके 12 अंक हैं. ये टीमें मुंबई, बेंगलुरु, राजस्थान और पंजाब हैं. ये चारों चौथे से सातवें स्थान पर हैं और चारों के 13 मैच हो चुके हैं. अब प्लेऑफ का फैसला कुछ टीमों के अंतिम मैच जीतने पर ही निर्भर हो सकेगा. इसके अलावा मजेदार बात यह भी है कि अगर शनिवार को कोलकाता हैदराबाद से हार जाती है तो वह भी इन चारों के साथ ही प्लेऑफ में पहुंचने गणित में शामिल हो जाएगी. कोलकाता के अभी 13 मैचों में 14 अंक हैं और उसका नेट रनरेट -0.096 है. 

पहले बात करते हैं बेगलुरु की. अभी बेंगलुरु का शनिवार को राजस्थान से मैच है. अगर बेंगलुरु मैच जीत जाती है तो राजस्थान का नेट रनरेट और कम हो जाएगा और वह प्लेऑफ की दौड़ से हर हाल में बाहर हो जाएगी. बेंगलुरु के जीतने पर उसका नेट रनरेट बढ़िया ही रहेगा और वह कोलकाता के अंतिम मैच हारने पर तीसरे स्थान तक पर पहुंच सकती है लेकिन इसके साथ ही मुंबई को भी अपना अंतिम मैच हारना होगा क्योंकि बेंगलुरु का रनरेट मुंबई से बेहतर होना मुश्किल हैं. हालांकि मुंबई और बेंगलुरु अगर दोनों ही अपने मैच जीतते हैं तो बेंगलुरु को राजस्थान को बड़े अंतर से हराना होगा. वहीं मुंबई की जीत नजदीकी होना चाहिए. 

इस लिहाज से बेंगलुरु को राजस्थान पर जीत हासिल करनी है और साथ में मुंबई के जीतने पर उसका रन रेट और कोलकाता की हार जीत पर नजर रखनी होगी.

वहीं अगर बेंगलुरु राजस्थान से मैच हार जाती है तो बेंगुलुरु के नेट रनरेट की गणित में उलझ जाएगी जिसमें काफी अगर मगर शामिल होगा. दूसरी तरफ अगर कोलकाता हैदाराबाद को हरा देती है तो वही बाकी चार टीमों का गणित आसान कर देगी. इसके बाद अगर मुंबई और पंजाब दोनों ही अपने मैच हार जातीं हैं तो बेंगलुरु-राजस्थान मैच का विजेता प्लेऑफ में जगह बना लेगा. लेकिन कोलकाता के जीतने के बाद मुंबई और पंजाब में से कोई एक भी टीम अपना आखिरी मैच जीत जाती है तो मामला नेट रेट पर आ जाएगा.

हैदराबाद का दूसरे स्थान पर जाना अब नामुमकिन नहीं
हैदराबाद की हार से उसके अंक तालिका में टॉप पर रहना भी अब सुनिश्चित नहीं है. क्योंकि अगर चेन्नई अपने दोनों ही आखिरी मैच जीतती है तो वही अंक तालिका में टॉप पर पहुंच जाएगी लेकिन उसके दूसरे स्थान को कोई खतरा नहीं है.  वहीं चेन्नई के दूसरे स्थान को चुनौती केवल कोलकाता दे सकती है. लेकिन उसके लिए चेन्नई को दिल्ली और पंजाब के खिलाफ अपने दोनों ही मैच हारने होंगे और कोलकाता को हैदराबाद पर बड़ी जीत हासिल करनी होगी जो बहुत ही मुश्किल लग रहा है.  इस तरह अभी यह तो लगभग तय ही हो गया है कि प्लेऑफ का पहला मैच यानि क्वालिफायर 1 हैदाराबाद- चेन्नई के बीच ही होना तय माना जा सकता है

loading...

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com