Breaking News

बेडरूम के ये ख़ास वास्तु निवारण बढ़ाएँगे आपके घर में धन और प्रेम

वस्तु विज्ञान अपने आप में एक अलग ही विज्ञान है जिसके दोषों का उचित निवारण कर देने से कष्ट और बंधाये दूर हो जाती है. बेडरूम किसी भी घर का महत्वपूर्ण हिस्सा होता है तथा वस्तु के अनुसार यही वह भाग होता है जो सुखी दाम्पत्य जीवन के लिए उत्तरदायी होता है.यदि बेडरूम के वस्तु से संबन्धित कुछ बातो को ध्यान मे रखा जाए तो पति पत्नी के बीच होने वाले आर्थिक विवादों तथा प्यार की कमी को काफी हद तक कम किया जा सकता है. ये 7 टिप्स आपकी लाइफ को खुशनुमा और रोमांटिक बना सकते है.

1. यदि बेडरूम में बेड पर एक ही गद्दे और बेड का इस्तेमाल किया जाए तो ये रिश्तो को मधुर बनाए रखता है। बेड, बेडशीट और गद्दा अलग-अलग होने से भी संबंधों में दूरियां बढ़ सकती है इसलिए एक ही गद्दे और बेड का इस्तेमाल करे|

2. आजकल बेडरूम को आकर्षक बनाने के लिए पौधे के गमले रखना आम बात है| लेकिन वास्तव मैं शयनकक्ष में पौधे लगाना उचित नहीं माना गया है। इससे स्वास्थ और धन आदि का नुकसान उठाना पड सकता है|

3. बेडरूम में पानी का फव्वारा और पानी से संबन्धित पेंटिंग नहीं लगाना चाहिए। इससे संबंधों खराब होते है और स्वास्थ्य और धन की भी हानी होती है।

4.चाइनिज वास्तु विज्ञान का मानना है की बेडरूप में मेनडरिन बतख की मूर्ति या तस्वीर रखना पति-पत्नी के बीच प्रेम संबंध को मजबूत बनाता है। मेनडरिन बतख प्रेम और खुशी के प्रतीक पक्षी होते हैं। साथ ही साथ जिनकी शादी में बाधा आ रही हो वह भी बेडरूम में रख सकते है. यह पक्षी हमेशा जोड़े में होता है अकेला रखा जाना अशुभ माना गया है.

5. बेड के नीचे या बेड के अंदर कोई भी इलेक्ट्रॉनिक चीजें या कबाड़ रखना आपके संबंधों को खराब करता है साथ ही साथ आर्थिक समस्याओं को भी बढा सकता है। इससे दंपत्ति के बीच धन संबंधी मन मुटाव बढ़ सकते है।

6. बेडरूम में रोशनी हमेशा पीछे या बांयी ओर से आनी चाहिए। प्रकाश की व्यवस्था ऐसी होनी चाहिए कि प्रकाश पलंग पर सीधे न पड़े। जिस बेड पर आप सोते है उसके सामने राधा कृष्ण या प्रेम के प्रतीक किसी की तस्वीर लगानी शुभ माना गया है।

7. बेडरूम में दर्पण लगाना स्वस्थ्य के लिए हानिकारक हो सकता है। दरअसल दर्पण का रिफ्लैक्शन बेड पर होने से स्वास्थ्य पर विपरीत प्रभाव पड़ता है। इससे पुरुष या महिला किसी की भी तबीयत अक्सर खराब रहती है। इससे संबंधों में दूरी बढ़ सकती है।

loading...

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com