मुस्लिम शख्स ने किया हिंदू का अंतिम संस्कार, सच्चाई जानकर आप भी चौंक जाएंगे

‘हिंदू मुस्लिम सिख ईसाई, आपस में हैं भाई-भाई’ आज तक आपने इस कहावत को कई बार सुना होगा लेकिन इस बार एक मुस्लिम आदमी ने इस कहावत को सच साबित कर दिखाया है.हम बात कर रहे है पश्चिम बंगाल के जहां पर एक व्यक्ति ने इस कहावत को हकीकत में बदल कर दिखाया है. यहां एक मुस्लिम शिक्षक ने पूरे हिंदू रीति-रिवाजों से अपने एक हिंदू साथी का अंतिम संस्कार किया है. जी हाँ… और उस आदमी ने ऐसा करने के पीछे बेहद ही भावुक वजह बताई है.

ये मामला जलपाईगुड़ी जिले के बनरहट का है जहां के रहने वाले अशफाक एक सरकारी स्कूल में पढ़ाते हैं. उनके साथ ही हिंदू दोस्त संजन कुमार विश्वास भी यहीं पढ़ाते थे. हालांकि संजन कुमार उम्र में अशफाक से काफी बड़े थे. हाल ही में संजन कुमार की मृत्यु हो गई. आपको बता दें संजन कुमार के परिवार में सिर्फ उनकी तीन बेटियां ही हैं, इसलिए उन्होंने एक साथी और एक बेटे की तरह फर्ज निभाते हुए उनका अंतिम संस्कार किया. सिर्फ इतना ही नहीं बल्कि अशफाक ने इसके लिए अपना सिर और मूंछें तक मुड़वा लीं. जी हाँ… और साथ ही अशफाक परिवार के साथ 11 दिन का शोक भी मनाएंगे.

इस बारे में बात करते हुए अशफाक का कहना है कि, ‘संजन कुमार उनके पिता के समान थे. उनसे उन्हें काफी कुछ सीखने को मिला है.’ उन्होंने आगे ये भी बताया कि, ‘संजन कुमार साल 2005 में रिटायर हो गए थे और उनका स्कूल आना-जाना बंद हो गया था, लेकिन उनकी दोस्ती हमेशा बरकरार थी, क्योंकि उनसे उन्हें जो सबसे बेहतरीन चीज सीखने को मिली थी, वो है मानवता.’ अब हर जगह अशफाक की मिसाल की खूब तारीफे हो रही है.

loading...

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com