म्युचुअल फंड की ओर आकर्षित हो रहे निवेशक, छह महीनों में बढ़े 65 लाख फोलियो

 म्युचुअल फंड में निवेशकों की दिलचस्पी लगातार बढ़ती जा रही है। इस वित्त वर्ष की पहली छमाही (अप्रैल से सितंबर) में इस इंडस्ट्री में 65 लाख नए फोलियो जुड़े हैं। इस वजह से सितंबर अंत तक फोलियो की कुल संख्या बढ़कर 7.78 करोड़ के पार पहुंच गई है। बता दें कि फोलियो एक नए निवेशक को दिया जाना वाला अकाउंट नंबर है। यह बात ध्यान देने वाली है कि एक निवेशक के पास एक से ज्यादा फोलियो भी हो सकते हैं।

म्युचुअल फंड कंपनियों के संगठन (AMFI) के मुताबिक, 31 मार्च 2018 को 41 म्युचुअल फंड के पास फोलियो की संख्या 7,13,47,301 थी, 65.39 लाख बढ़कर सितंबर अंत तक 7,78,86,596 पहुचं गई।

इसके साथ टैक्स फंड्स में भी फोलियो की संख्या 56 लाख बढ़कर 5.91 करोड़ रुपये तक पहुंच गई है। इसके अलावा बैंलेस्ड कैटेगरी के फोलियो की संख्या बढ़कर 63 लाख रुपये हो गई है। साथ ही इनकम फंड्स के फोलियो 5.2 लाख के इजाफे के साथ 1.12 करोड़ के पार हो गए हैं। बता दें कि पिछले काफी समय से रिटेल निवेशक म्युचुअल फंड इंडस्ट्री में महत्वपूर्ण बने हुए हैं। AMFI के सीईओ एनएस वेंकटेश ने बताया कि फोलियो की संख्या जबरदस्त उछाल के साथ 7.75 करोड़ तक पहुंच गई है।

हालांकि, इनकम स्कीमों से कुल 85,280 करोड़ रुपये से अधिक रकम की निकासी हुई। इनकम स्कीमें डेट म्युचुअल  फंड्स हैं, जो स्थिर रिटर्न देती हैं। गोल्ड ईटीएफ से निकासी जारी है। गोल्ड ईटीएफ स्कीमों से कुल 274 करोड़ रुपये की रकम खींची गई। म्युचुअल फंड्स लंबे समय में दौलत बनाने का लोकप्रिय साधन बनकर उभरें हैं। इसने बड़ी संख्या में छोटे निवेशकों को आकर्षित किया है। सिप ने इसकी लोकप्रियता को पंख लगा दिए हैं। निवेशक बेझिझक छोटी सी मासिक रकम के जरिए शेयर, बॉन्ड या मनी मार्केट में निवेश कर सकते हैं।

इसके मुकाबले में इनकम स्कीमों से कुल 85,280 करोड़ रुपये से ज्यादा का निकासी हुई है। इनकम स्कीमें डेट म्युचुअल फंड्स है जो स्थिर रिटर्न देती है। इसके साथ गोल्ड ईटीएफ से लगातार निकासी हो रही है। इन स्कीमों से कुल 274 करोड़ रुपये निकाले गए।

loading...

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com