रविवार को सूर्य भगवान का दिन माना जाता है

सूर्य के प्रिय है लाल पुष्‍प 

सूर्य भगवान की पूजा में उन्‍हें फूल अर्पित तो करते ही हैं अच्‍छा होगा कि उन्‍हें लाल फूल चढ़ायें ये बहुत फायदेमंद साबित होता है। 

अष्टांग अर्ध्‍य पसंद है सूर्य को 

कहते हैं जो कोई सूर्य को अष्टांग अर्ध्‍य देता है उसे हजार वर्ष तक सूर्य लोक में स्थान प्राप्त होता है। इस प्रकार का अर्ध्‍य देने के लिए जल, दूध, कुशा का अग्र भाग, घी, दही, मधु, लाल कनेर फूल और लाल चंदन का प्रयोग करें।

ताम्र पात्र भी भाता है 

आप सूर्य को अर्ध्‍य देते समय मिट्टी और बांस के पात्र का प्रयोग करते हैं तो इसमें कोई दोष नहीं है परंतु इसकी अपेक्षा सूर्य देव को ताम्र पात्र से अर्ध्‍य देंगे तो वे अतीव प्रसन्‍न हो जायेंगे और सौ गुणा अधिक फल देंगे। 

कमल और पलाश के पत्‍ते भी है मनपसंद

सूर्य देव को लाल रंग इतना भाता है कि जब कोई उन पर कमल का फूल और पलाश के पत्तों का अर्पण करता है तो उन्‍हें अत्‍यंत आनंद होता है। 

तालपत्र का पंखा चढ़ायें

भविष्य पुराण के अनुसार जो व्यक्ति सूर्य देव को तालपत्र का पंखा समर्पित करता है वह दस हजार वर्ष तक सूर्य लोक में रहने का अधिकारी बन जाता है।

 

loading...

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com