रेलवे की नई पॉलिसी, आय बढ़ाने का निकाला बेहरतीन तरीका

हिन्द न्यूज़ डेस्क। रेलवे अपनी आय बढ़ाने के लिए नए-नए रास्ते तलाशने की कोशिश कर रही है. रेलवे ने माल भाड़ा और यात्री किराए के आलावा आमदनी के दूसरे स्त्रोत पर केंद्रित करना शुरू करना कर दिया है. इसके लिए रेलवे ने गैर किराया राजस्व के लिए अपनी नई पॉलिसी तैयार की है. नई नीति के तहत रेलवे ने अनुमान लगाया है कि वह सालाना 16,500 करोड़ रुपए की अतिरिक्त आमदनी कर सकती है.

indian-railway-recruitment1यह भी पढ़ें- इराकी बल आईएस के कब्जे वाले मोसुल में आगे बढ़े

ये है नई पॉलिसी
बता दें कि रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने राजधानी दिल्ली में रेलवे की गैर किराया राजस्व पॉलिसी को हरी झंडी दिखा दी है. इस नई रेल किराया राजस्व पॉलिसी के तहत देशभर में चलने वाली सभी ट्रेनों को विनायल रैपिंग एडवरटाइजिंग के लिए ई-नीलामी करके बेचा जाने वाला है. इस पॉलिसी के तहत ट्रेनों को 10 साल के लिए नीलाम किया जाएगा. इसके तहत देशभर में चलने वाली 10,000 से ज्यादा यात्री ट्रेनों को विज्ञापन के लिए नीलाम किया जाएगा. देशभर में चलने वाली सभी ट्रेनों को इसके लिए 6 श्रेणियों में बांटा गया है.

नीलामी के लिए तय की गई हैं ये 6 श्रेणियां: 
1. राजधानी, शताब्दी, जन शताब्दी और डबल डेकर
2. सुपर फास्ट, एसी सुपरफास्ट, स्पेशल और मेल एक्सप्रेस ट्रेनें
3. ईएमयू, दिल्ली, मुंबई, कोलकाता, चेन्नई
4. डीएमयू और एमईएमयू ट्रेनें
5. गरीब रथ
6. अन्य ट्रेनें

यह भी पढ़ें-  रैप सिंगर बादशाह को मिली खुशखबरी

नीलामी की कीमत अलग-अलग
ऊपर बताई गई सभी 6 प्रकार की कैटेगरी के लिए नीलामी की बेसिक कीमत अलग-अलग रखी गई है। रेलवे की पीएसयू राइट्स को कंसल्टेंट के तौर पर नियुक्त किया गया है। राइट्स ने अर्नस्ट एंड यंग को प्रोफेशनल मीडिया मार्केटिंग इवैल्यूशन एजेंसी यानि पीएमएमईए नियुक्त किया है। राइट्स और पीएमएमईए मिलकर पूरी की पूरी नीलामी प्रक्रिया को मैनेज करेंगे।

b2b28-2_1
स्टेशन पर लगेगी डिजिटल स्क्रीन
स्टेशनों पर बड़ी-बड़ी डिजिटल स्क्रीन लगाने के साथ ही रेलवे का इरादा सभी ट्रेनों के अंदर डिजिटल स्क्रीन लगाने का है। इन स्क्रीन पर कंटेंट ऑन डिमांड चलाया जाएगा। इसी के साथ रेलवे रेल रेडियो लाने का भी प्लॉन बना रही है। इस तरह की डिजिटल क्रांति से भारतीय रेलवे तकरीबन 6000 करोड़ रुपए की अतिरिक्त आमदनी करने का अनुमान लगा रहा है।

यह भी पढ़ें-  ‘बहुत हुई लड़ाई, अब करो सुलह, ज्यादा वक्त नहीं है’

ATM भी लगेंगे स्टेशन पर
रेलवे ने अपने सभी स्टेशनों पर बैंकों के एटीएम लगाने का फैसला भी किया है। अपनी नई नीति के तहत रेलवे अब बैंकों को 10 साल के लिए एटीएम स्पेस उपलब्ध कराएगा। एटीएम के लिए दी जाने वाली जगहों के किराए का निर्धारण ई-नीलामी के जरिए किया जाएगा। नई एटीएम पॉलिसी से भारतीय रेलवे को ढाई हजार करोड़ की अतिरिक्त आमदनी होने का अनुमान है।

loading...

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com