शांति की राह पर आया उत्तर कोरिया फिर अपने पुराने ढर्रे पर जाता दिख रहा है

शांति की राह पर आया उत्तर कोरिया फिर अपने पुराने ढर्रे पर जाता दिख रहा है। उसने अपने पुराने अंदाज में चेतावनी भरे लहजे में कहा कि अमेरिका ने अगर आर्थिक प्रतिबंध नहीं हटाए तो वह परमाणु हथियारों का विकास फिर शुरू कर देगा। उत्तर कोरिया शांति की राह पर आने से पहले अमेरिका को अक्सर ही परमाणु हमले की धमकी देता था।

उत्तर कोरिया के विदेश मंत्रालय ने शुक्रवार को एक बयान में कहा, ‘अमेरिका ने अगर अपने रुख में बदलाव नहीं किया तो वह परमाणु हथियार विकसित करने की अपनी नीति को वापस ले आएगा। संबंधों में सुधार और प्रतिबंध परस्पर विरोधी हैं।

अमेरिका सोचता है कि प्रतिबंधों और दबाव के चलते परमाणु निरस्त्रीकरण होगा। हम इस तरह की बेवकूफी भरी सोच पर हंसने में मदद नहीं कर सकते हैं।’ उत्तर कोरिया का यह कड़ा बयान ऐसे समय में आया है जब परमाणु मसले पर अमेरिका के साथ उसकी वार्ता चल रही है।

सिंगापुर में ट्रंप और किम की वार्ता के बाद अमेरिका ने यह साफ किया था कि जब तक उत्तर कोरिया के परमाणु निरस्त्रीकरण की दिशा में ठोस प्रगति नहीं होती है तब तक उस पर प्रतिबंध बरकरार रहेंगे।

परमाणु-मिसाइल परीक्षणों के बाद शांति की राह पर आया उत्तर कोरिया

पिछले वर्ष कई परमाणु और मिसाइल परीक्षण करने वाले उत्तर कोरिया के रुख में इस साल बदलाव आया। उसने दशकों की दुश्मनी को भुलाकर एक तरफ जहां दक्षिण कोरिया के साथ संबंधों को सुधारना शुरू किया तो परमाणु निरस्त्रीकरण के मसले पर अमेरिका के साथ भी उसकी बात आगे बढ़ी। इसी प्रक्रिया में गत जून में सिंगापुर में उत्तर कोरिया के सर्वोच्च नेता किम जोंग उन और अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के बीच ऐतिहासिक शिखर वार्ता हुई थी। इसमें कोरियाई प्रायद्वीप को परमाणु मुक्त करने पर सहमति बनी थी। हालांकि इसका कोई खाका सामने नहीं आया था।

उत्तर कोरिया से बात करेंगे पोंपियो

अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोंपियो ने शुक्रवार को एक इंटरव्यू में कहा कि उनकी अगले हफ्ते अपने उत्तर कोरियाई समकक्ष से बातचीत करने की योजना है। उन्होंने हालांकि यह जाहिर नहीं किया कि उनकी कब और कहां मुलाकात होगी। उनकी यह वार्ता परमाणु मसले पर होने की संभावना जताई गई है।

loading...

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com