सावन में शिपुराण कथा अधिक फलदायी: सती

आपदा में दिवंगत तीर्थयात्रियों की स्मृति व दिवंगतों की आत्म शांति के लिए मुंबई के दानीदाताओं की ओर से केदारनाथ धाम में शिवपुराण कथा के दूसरे दिन कथावाचक आचार्य जगदंबा प्रसाद सती ने कहा कि सावन माह में कथा करवाना अधिक फलदायी होता है। सावन के माह में पूरे महीने भक्त शिव का स्मरण करते है।

मंगलवार को सुबह ब्राह्मणों ने भगवान केदारनाथ की पूजा अर्चना के बाद गणेश पूजा, पंच पूजा, भद्र पूजा, व्यास पूजा, रुद्रीपाठ समेत नित्य पूजाएं संपन्न की गई। इसके बाद धाम में शिव की स्तुति के साथ के साथ कथा का शुरू हुई। दूसरे दिन कथा व्यास आचार्य जगदंबा प्रसाद सती ने शिवपुराण की महिमा का वर्णन करते हुए कहा कि सावन में मेघों से जिस तरह धरती शस्य श्यामल हो जाती है, उसी तरह शिव पुराण का श्रवण जीवात्मा के भीतर ज्ञान भर देता है।

तथा लोक परलोक का मंगल साधन बन जाती है। यह कि भगवान नंदी द्वारा कथा कैलाश पर्वत पर शिव गणों को सुनाई, इसी कथा को महर्षि सूत जी नैमिषारण्य में अठ्ठासी हजार ऋषियों को सुनाते है। कथा के बीच में ऋषिकेश से पधारे भजन गायक दीपक चमोली ने शिव महिमा के भजनों से शमा बांधा। इसके साथ ही अन्य भक्तों की ओर भजनों के गायन से क्षेत्र का माहौल शिवमयी हो रहा है। बदरी-केदार मंदिर समिति के मुख्य कार्याधिकारी बीडी सिंह ने बताया कि आपदा में दिवंगतों की आत्म शांति के लिए मुंबई के दानीदाता मनोज सोलंकी एवं उनके परिवार के सहयोग से मंदिर समिति महाशिवपुराण कथा का आयोजन कर रही है। मीडिया प्रभारी डॉ. हरीश गौड़ ने बताया कि शिवपुराण कथा के लिए मंदिर समिति की ओर से व्यापक तैयारियां की गई है। कथा में स्थानीय तीर्थ पुरोहित एवं केदार सभा सदस्यों की ओर से पूरा सहयोग किया जा रहा है।

loading...
error: Content is protected !!

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com