सोने की शुद्धता परखना होगा और भी आसान

सोना खरीदते वक्त मन में बड़ा सवाल यह उठता है कि सोने की शुद्धता कैसे पता करें. मौजूदा समय में इस मामले में हॉलमार्क‍िंग को शुद्धता की गारंटी माना जाता है. अब केंद्र सरकार हॉलमार्क‍िंग की इस व्यवस्था को और भी पुख्ता करने वाली है.

फूड और कंज्यूमर्स अफेयर्स मिनिस्टर राम विलास पासवान ने गुरुवार को एक अहम बात कही. उन्होंने बताया कि सरकार हॉलमार्क‍िंग की इस व्यवस्था को अनिवार्य करने जा रही है. बता दें कि मौजूदा समय में कंज्यूमर अफेयर्स मिनिस्ट्री के अधीन आने वाला ब्यूरो ऑफ इंडियन स्टैंडर्ड्स (बीआईएस) हालमार्किंग का एडमिनिस्ट्रेटिव डिपार्टमेंट है.

वर्ल्ड स्टैंडर्ड डे पर बीआईएस की तरफ से आयोजित कार्यक्रम में पासवान बोल रहे थे. इस दौरान उन्होंने कहा, ” बीआईएस ने 14 कैरेट, 18 कैरेट और 22 कैरेट ग्रेड की गोल्ड ज्वैलरी के लिए हालमार्किंग के मानक तय क‍िए हुए हैं.” उन्होंने कहा कि ग्राहकों की खातिर इसे तय किया जाना जरूरी है. 

हालांकि ये व्यवस्था कब से लागू की जाएगी. इस संबंध में उन्होंने यहां कोई जानकारी नहीं दी. कार्यक्रम में उपभोक्ता मामलों के राज्य मंत्री सीआर चौधरी ने आर्ट‍िफीशियल इंटेलिजेंस जैसी नई तकनीक की खातिर स्टैंडर्ड तय करने पर जोर दिया.

मौजूदा समय में भारत में बीआईएस से मान्यता प्राप्त 653 हालमार्किंग सेंटर हैं. इन केंद्रों में से अध‍िकतर तमिलनाडु में और केरल में है. मौजूदा समय में हॉलमार्क‍िंग की इस व्यवस्था का प्रबंधन भारतीय मानक ब्यूरो (BIS) करता है. 

loading...

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com