हाथ जोड़कर जस्टिस चेलमेश्वर ने कहा, हम नहीं बोले तो ‘लोकतंत्र’ खत्म हो जाएगा

हिन्द न्यूज डेस्क| देश के इतिहास में पहली बार ऐसा हो रहा है, जहां सुप्रीम कोर्ट के 4 जज पहली बार मीडिया से प्रेस कॉन्फ्रेंस के जरिए रूबरू हुए. यह प्रेस कॉन्फ्रेंस जस्टिस चेलमेश्वर के घर पर हुई. इसका हिस्सा जस्टिस गोगोई, जस्टिस के जोसेफ और जस्टिस लोकूर बनें. जस्टिस चेलमेश्वर ने कहा कि यह देश के इतिहास में असाधारण मौका है. इस कांफ्रेंस में 4 जजों ने सुप्रीम कोर्ट की न्यायपालिका की व्यवस्था पर सवाल उठाए.

पाकिस्तान ने एक बार फिर तोड़ा सीज फायर, उरी सेक्टर में हुई गोलीबारी

जस्टिस चेलमेश्वर ने कहा कि हमने न्यायपालिका की अनियमितताओं पर बात की, इस मुद्दे को लेकर हमने चार महीने पहले देश जस्टिस को खत लिखा था. आपको बता दें कि जस्टिस चेलमेश्वर चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा के बाद सीनियर मोस्ट जज हैं. कभी-कभी होता है कि देश के सुप्रीम कोर्ट की व्यवस्था भी बदलती है. सुप्रीम कोर्ट का प्रशासन ठीक तरीके से काम नहीं कर रहा है, अगर ऐसा चलता रहा तो लोकतांत्रिक परिस्थिति ठीक नहीं रहेगी. उन्होंने कहा कि हमने इस मुद्दे पर चीफ जस्टिस से बात की, लेकिन उन्होंने हमारी बात नहीं सुनी.

जस्टिस चेलमेश्वर ने कहा कि अगर हमने देश के सामने ये बातें नहीं रखी और हम नहीं बोले तो लोकतंत्र खत्म हो जाएगा. हमने चीफ जस्टिस से अनियमितताओं पर बात की. उन्होंने बताया कि चार महीने पहले हम सभी चार जजों ने चीफ जस्टिस को एक पत्र लिखा था. जो कि प्रशासन के बारे में थे, हमने कुछ मुद्दे उठाए थे.

गुजरात एटीएस ने गिरफ्तार किया लाल किला हमले में शामिल संदिग्ध आतंक

 चीफ जस्टिस पर देश को फैसला करना चाहिए, हम बस देश का कर्ज अदा कर रहे हैं. जजों ने कहा कि हम नहीं चाहते कि हम पर कोई आरोप लगाए. उन्होंने कहा कि हम नहीं चाहते कि बीस साल बाद हमपर कोई आरोप लगाए. आपको बता दें कि यही पहली बार है कि सुप्रीम कोर्ट के मौजूदा जज प्रेस कांफ्रेंस कर रहे हैं. प्रेस कॉन्फ्रेंस में जस्टिस चेलमेश्वर, जस्टिस रंजन गोगोई, जस्टिस मदन लोकुर और जस्टिस कुरियन जोसेफ शामिल थे.
loading...

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com