448 संस्थाओं ने बैंक अकाउंट से 1 साल में निकाली 100 करोड़ रुपये से अधिक रकम,

महज 448 संस्थाओं ने एक साल में बैंक अकाउंट से कैश में 100 करोड़ रुपये से अधिक निकासी में कुल मिलाकर 5.56 लाख करोड़ रुपये निकाले। जिसको देखते हुए सरकार ने 1 करोड़ रुपये से अधिक की निकासी पर टीडीएस लगाने का फैसला लिया।

ऑफिशियल डेटा के अनुसार, 2017-18 में लगभग 2 लाख व्यक्तियों और व्यापारिक संस्थाओं ने बैंक अकाउंट से 1 करोड़ रुपये से अधिक कैश निकाला। इन संस्थाओं ने कुल मिलाकर 11.31 लाख करोड़ रुपये निकाले थे। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने अपने बजट भाषण में कहा कि कैश में व्यवसायिक भुगतान करने के सिस्टम को खत्म करने के लिए, मैं एक बैंक अकाउंट से एक साल में 1 करोड़ रुपये से अधिक की कैश निकालने पर 2 फीसद का टीडीएस लगाने का प्रस्ताव करती हूं।

2017-18 में 1.03 लाख से अधिक संस्थाओं ने 1-2 करोड़ रुपये नकदे निकाले जो कुल मिलाकर 1.43 लाख करोड़ रुपये से अधिक थे। जबकि 58,160 संस्थाओं ने संचयी रूप से 2-5 करोड़ रुपये की सीमा में 1.75 लाख करोड़ रुपये से अधिक की नकदी निकाली है, वहीं 14,552 ने 5-10 करोड़ रुपये की सीमा में कुल 98,900 करोड़ रुपये निकाले हैं।

इसके अलावा 7,300 से अधिक लोगों ने 1.57 लाख करोड़ रुपये निकाले, जिसकी निकासी सीमा 10-100 करोड़ रुपये है। वित्त वर्ष 2017-18 के दौरान कुल 448 फर्मों ने कैश में 5.56 लाख करोड़ रुपये की निकासी की, जिसकी निकासी सीमा 100 करोड़ रुपये से अधिक थी।

loading...
error: Content is protected !!

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com