Exclusive बातचीत की. मेनका गांधी ने अपने विवादित बयान पर भी सफाई दी और कहा कि मेरे जो दिल में था वो बोला

केन्द्रीय मंत्री और सुल्तानपुर से बीजेपी प्रत्याशी मेनका गांधी ने Zee News से Exclusive बातचीत की. मेनका गांधी ने अपने विवादित बयान पर भी सफाई दी और कहा कि मेरे जो दिल में था वो बोला. मैं अल्पसंख्यकों का बहुत सम्मान करती हूं. मेरे बयान को गलत तरीके से पेश किया गया. मैं भड़काऊ भाषण कभी नहीं देती हूं, जो मैंने बयान दिया था वो भड़काऊ नहीं था.

मेरे बयान को गलत तरीके से दिखाया गया

बातचीत में उन्होंने कहा कि पीलीभीत में मैंने अक्लियतों के लिए काम किया. वही पैगाम यहां मैं सुल्तानपुर में लेकर आई. उन्होंने मेरे बयान को गलत तरीके से पेशकर अनावश्यक विवाद खड़ा किया गया. उन्होंने कहा कि मैंने अल्पसंख्यकों से यही कहा कि इस चुनाव में हमारे साथ रहिए, नहीं तो मेरा दिल टूटता है. चुनाव आयोग के अनुसार, शायद मेरा बयान उचित न हो लेकिन मेरे दिल के हिसाब से जो मैं कहना चाहती थी वो मैंने कहा. 

प्रियंका गांधी कोई चैलेंज नहीं
प्रियंका गांधी पर बड़ा बयान देते हुए उन्होंने ज़ी न्यूज से कहा कि प्रियंका कोई चैलेंज नहीं हैं. सवाल व्यक्ति का नहीं हैं, पार्टी का होता है. एक जनरल से लड़ाई नहीं लड़ी जाती है, सैनिकों की जरूरत होती है. लड़ाई तो गांव के एक-एक इंसान के सहारे लड़ी जाती है. जब आपके पास जमीन पर कुछ नहीं, तो हवा की बातें कम चलती है. उन्होंने उदाहरण देते हुए कहा कि जो पार्टी के लोग होते हैं वो दाल होते हैं और नेता छौंका होते हैं. प्रियंका गांधी पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि आप सिर्फ छौंका ही लगाते रहे हैं, दाल गायब हो तो किस चीज पर आप छौंका डाल रहे हो. कांग्रेस की दाल ही नहीं है. 

PM मोदी का कोई मुकाबला नहीं 
प्रियंका गांधी वाड्रा बनारस से चुनाव नहीं लड़ेंगी, सिर्फ मीडिया में हाईलाइट होने के लिए ये शगुफा आया है. प्रधानमंत्री मोदी का मुकाबला प्रियंका नहीं कर सकती हैं. 

अमेठी-रायबरेली प्रचार पर ये दिया जवाब
अमेठी-रायबरेली प्रचार के सवाल पर उन्होंने कहा कि मैं किसी के खिलाफ या किसी के प्रति अमेठी या रायबरेली नहीं जाती. उन्होंने कहा कि वैसे पार्टी ने अभी तक प्रचार के लिए नहीं कहा है. 

 

गठबंधन कोई चुनौती नहीं
सुल्तानपुर में सपा-बसपा के संयुक्त प्रत्याशी कितना बड़ा चैलेंज है, इस सवाल पर मेनका गांधी ने कहा कि ये चैलेंज होता लेकिन जो प्रत्याशी उन्होंने चुना है, उस कैंडिडेट का आपराधिक रिकॉर्ड है, जो कि लोगों को पसंद नहीं है. यहां के शरीफ लोग क्रिमिनल के लिए वोट नहीं करना चाहते हैं. 

सुल्तानपुर में राम मंदिर नहीं, ये मुद्दा है
राम मंदिर पर मेरी कोई राय नहीं है, सुल्तानपुर में राम मंदिर मुद्दा नहीं बल्कि सुल्तानपुर का नाम भगवान राम के बेटे कुश के नाम पर कुशभवनपुर किया जाए. ये मुद्दा है. 

पीलीभीत से सुल्तानपुर, ये पार्टी का फैसला है
पीलीभीत से सुल्तानपुर शिफ्ट होने के सवाल पर कहा कि ये पार्टी का फैसला था. सुल्तानपुर में विकास मुद्दा रहेगा. चीनी मिल ठीक किया जाए, लेकिन एक नया मुद्दा आया है इस चुनाव में धन्यवाद का मुद्दा आया है. जो पीएम मोदी ने पिछले 5 सालों में किया है. इस गंगा में सभी ने डुबकी लगाई है. 

जातीय फैक्टर हर चुनाव में अहम
जातीय फैक्टर हर चुनाव एक प्रभाव होता है. अगर गठबंधन का समीकरण जमीन पर उतर आया है तो चैलेंज है और अगर नहीं उतरा है तो कोई चैलेंज नहीं है. जो कि बहुत जगहों पर नहीं उतरा है. 

PM मोदी के नेतृत्व में देश सुरक्षित
नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में देश सुरक्षित है. मुझे नहीं मालूम कि कितनी सीटें जीतेंगे, बड़ी बात करूं तो सभी सीटें और छोटी बात करूं तो सुल्तानपुर. इसमें दोनों कवर हो गया. 

माया-मुलायम को लेकर दिया ये बयान
माया-मुलायम के एक साथ मंच पर आने पर मेनका ने कहा कि दोस्ती हमेशा अच्छी चीज होती है, क्यों हम दुश्मनी करेंगे.  

 

loading...
error: Content is protected !!

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com